जानिए वो कौन थे जिन्होंने इंदिरा गाँधी को स्वीटी कह कर पुकारते थे

0
1516

सैम मानेकशॉ का पूरा नाम होरमुजजी फ्रामदी जमशेदजी मानेकशॉ था। सैम मानेकशॉ का जन्म तीन अप्रैल 1914 को अमृतसर के पारसी परिवार में हुआ था। बचपन से ही वो काफी निडर और बहादुर थे। लोग उन्हें सैम बहादुर के नाम से बुलाया करते थे। सैम मानेकशॉ भारतीय सेना के पहले ऐसे जनरल बने जिनको प्रमोट कर फील्ड मार्शल की रैंक दी गई थी।

भारतीय सेना के सबसे प्रसिद्ध जनरलों में से एक, मानेकशॉ न केवल सशस्त्र बलों के भीतर भारतीयों की पीढ़ियों को प्रेरित करना जारी रखता है, बल्कि हथियारों के पेशे से परे है। एक बार की बात है 1971 की जंग से पहले जब इंदिरा गांधी ने शॉ को युद्ध के लिए कहा था तो उन्होंने इंदिरा गांधी का विरोध किया था और जंग के लिए मना कर दिया था। साथ ही जंग के लिए टाइम मांगा था। हालांकि साल 1971 की जंग उनके नेतृत्व में ही जीती गई थी।

उस वक्त जब प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने सैम मानेकशॉ से पूछा था कि क्या लड़ाई की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं? इस पर मानेकशॉ ने तपाक से कहा था ‘I am always ready Sweety’। उस जमाने में जब इंदिरा गांधी से लोग डरते थे तब सैम इंदिरा को बड़ी बेबाकी से जवाब देते थे।

मानेकशॉ द्वारा भारतीय सेना की गोरखा रेजिमेंट पर अक्सर टिप्पणी की जाती है जो वीरता और पुरुषों की बहादुरी का सम्मान करती है। उनका कहना है कि यदि कोई व्यक्ति कहता है कि वह मरने से नहीं डरता है, तो वह झूठ बोल रहा है या गोरखा है।